सरकारी योजना

उजाला योजना क्या है ओर कैसे मिलता है इसका लाभ, जाने योग्यता, दस्तावेज़, ऑनलाइन आवेदन

उजाला योजना ऑनलाइन आवेदन

उजाला योजना क्या है ओर कैसे मिलता है इसका लाभ, जाने योग्यता, दस्तावेज़, ऑनलाइन आवेदन

ChomuCity.In

उजाला योजना

भारत में कुल खपत में प्रकाश क्षेत्र का योगदान लगभग 20 प्रतिशत है । मौजूदा समय में घरेलू एवं सार्वजनिक प्रकाश क्षेत्र की रोशनी संबंधी ज्यादातर आवश्यकताओं की पूर्ति अक्षम, पारंपरिक, तापदीप्त बल्बों से की जाती है । भारत सरकार एलईडी के जरिये भारत में सभी 77 करोड़ अक्षम बल्बों को बदलने के लक्ष्य को पाने के लिए प्रतिबद्ध है । इससे हर साल 20,000 मेगावाट लोड की कमी संभव होगी, 100 अरब केडब्ल्यूएच की ऊर्जा बजत होगी और ग्रीन हाउस गैस (जीएचजी) में 80 मिलियन टन की कमी संभव हो पाएगी । यह अनुमान लगाया गया है कि यह देश में तकरीबन 5 बड़े ताप विद्युत संयंत्रों की स्थापना के समतुल्य है । इसके अलावा, देश में उपभोक्ताओं के बिजली बिलों में भी 40,000 करोड़ रुपये की बचत होगी ।

उजाला योजना क्या है ?

भारत सरकार के राष्‍ट्रीय कार्यक्रम – उन्नत ज्योति बाय अफोर्डेबल एलईडीज फॉर ऑल (उजाला) अर्थात उन्‍नत ज्‍योति द्वारा सभी के लिए रियायती एलईडी (उजाला) की शुरुआत हाल ही में भोपाल से की गई । इस कार्यक्रम का क्रियान्‍वयन बिजली मंत्रालय की संयुक्‍त उपक्रम सार्वजनिक कंपनी एनर्जी एफिशंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) द्वारा किया जा रहा है । एलईडी आधारित घरेलू सक्षमता लाइटिंग कार्यक्रम (डोमेस्टिक एफीसिएंट लाइटिंग प्रोग्राम-डीईएलपी) को ‘उजाला’ नाम दिया गया है ।

शुरुआत में उजाला योजना का पूरी तरह से संचालन राजस्थान, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, बिहार, आंध्र प्रदेश, पुद्दुचेरी, झारखंड, छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड में हो रहा है । कई और राज्य एवं केंद्रशासित प्रदेश इस योजना से जुड़ेंगे ।

ईईएसएल द्वारा क्रियान्वित की जा रही उजाला योजना को देश के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में व्यापक तौर पर स्वीकार किया गया है । बड़े पैमाने पर इसे स्वीकार किये जाने का मुख्य कारण एलईडी बल्बों की वह क्षमता है, जिसके बल पर वे कम वोल्टेज रहने पर भी लगातार सही ढंग से रोशनी देते हैं । वहीं, दूसरी ओर साधारण बल्ब एवं सीएफएल कम वोल्टेज में प्रायः अच्छा प्रकाश नहीं देते ।

उजाला योजना का मुख्य उद्देश्य

जल्द से जल्द देश के सभी घरो मे एलईडी बल्ब पहुँचाना है, जिससे बिजली की खपत कम होगी, और एनर्जी को अधिक से अधिक बचाया जा सकेगा ।

उजाला योजना का मुख्य उद्देश्य

जल्द से जल्द देश के सभी घरो मे एलईडी बल्ब पहुँचाना है, जिससे बिजली की खपत कम होगी, और एनर्जी को अधिक से अधिक बचाया जा सकेगा ।

 

उजाला योजना की खास बाते

  • उजाला योजना से बिजली की काफी बचत होगी ।
  • इस योजना में हर साल 9 करोड़ बल्ब बाँटें जायेंगें ।
  • इस योजना में जो बल्ब बाँटें जाते है उनमे अन्य बल्ब से 10 गुना रोशनी अधिक होती है ।
  • योजना में हर साल 20 हजार मेगावाट लोड की कमी संभव होगी ।

उजाला योजना मे बल्ब लेने के लिए कैसे करे आवेदन

  • इस योजना मे बल्ब लेने के लिए आवेदन करना चाहते है तो आपको सबसे पहले राष्ट्रीय उजाला डैशबोर्ड वेबसाइट पर जाना होगा ।
  • वेबसाइट मे निर्धारित फॉर्म मे पूछी गई पूरी जानकारी भरकर फॉर्म को सबमिट करे ।
  • इसके बाद अपनी सारी जानकारी डिस्कॉम ऑफिस जा के देखे ।
  • इसके बाद आप उजाला योजना का लाभ उठा सकते है ।

 

उजाला योजना की खास बाते

  • कम बिजली की खपत कर नौ वॉट का एलईडी बल्‍ब 100 वॉट के बल्ब के बराबर ही प्रकाश देता है ।
  • 18 मार्च 2016 तक ईईएसएल ने भारत सरकार की उजाला योजना के तहत देश के 125 शहरों में एक साल के अंदर 8
  • करोड़ से भी ज्यादा एलईडी बल्ब वितरित किए हैं ।
  • इस योजना से न केवल उपभोक्ताओ को बिल कम देना होगा बल्कि देश मे बिजली की बचत भी होगी ।
  • एलईडी बल्‍बों के प्रयोग से पर्यावरण की भी सुरक्षा होगी ।
  • 12 माह की अवधि में 8 करोड़ एलईडी बल्बों के वितरण का लक्ष्य हासिल करने के परिणामस्वरूप 2.84 करोड़
  • केडबलयूएच की दैनिक बचत संभव हो पाई है ।
  • यह बचत 365 दिनों तक 20 लाख से भी ज्यादा घरों को रोशन करने में सक्षम है ।
  • यूनिट के लिहाज से बिजली की बचत करने के अलावा कार्बन-डाइऑक्साइड के दैनिक उत्सर्जन में 23,000 टन की कमी करने में भी मदद मिली है ।
  • उजाला योजना के तहत वितरित किए गए बल्ब की कीमत बाजार मूल्य से बहुत कम है ।
    बेहतर गुणवत्ता वाले इन बल्बों पर तीन साल की मुफ्त प्रतिस्थापन (फ्री रिप्लेसमेंट ) वारंटी भी दी जाती है ।

 

उजाला योजना की पात्रता

वे सभी उपभोक्ता जिनको विद्युत वितरण कंपनी से मीटर के जरिए कनेक्शन दिया गया है वो उजाला योजना कार्यक्रम के तहत एलईडी बल्ब पाने के लिए योग्य है उपभोक्ता ईएमआई भुगतान (बिजली बिल में मासिक/द्विमासिक किस्तों पर ) पर या अग्रिम भुगतान करके एलईडी की खरीद कर सकते है । उपभोक्ता को उजाला एलईडी बल्ब पाने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों को ले जाना आवश्यक है ।

  • ईएमआई के लिए – नवीनतम बिजली बिल और सरकार अधिकृत आईडी प्रूफ की कॉपी की प्रति ।
  • अग्रिम के लिए – सरकार अधिकृत आईडी प्रूफ की कॉपी ।

 

एलईडी बल्ब की कीमत

उजाला एलईडी बल्ब 75 रूपए – 95 रूपये प्रति एलईडी बल्ब के मूल्य पर खरीदा जा सकता है । एलईडी बल्बों की कीमतों में अंतर राज्य के लिए राज्य से करों में (वैट, चुंगी आदि) के कारण भिन्न हो सकता है ; इसके साथ वितरण और जागरूकता लागत, ;वार्षिक रखरखाव लागत (एएमसी ); कैपिटल और प्रशासनिक लागत की लागत इत्यादि पर भी निर्भर करेगा ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button