डिजिटल विज्ञापन - Ad
लाइफस्टाइल

मौसमी खाने के फायदे, ऐसे करें सेवन

मौसमी खाने के फायदे, ऐसे करें सेवन विटामिन सी से युक्त ,खट्ठा, मीठा रसीला फल. सुनकर ही मुँह में पानी आ जाता है.

मौसमी खाने के फायदे, ऐसे करें सेवन

Benefits of seasonal food, consume it like this

विटामिन सी से युक्त ,खट्ठा, मीठा रसीला फल. सुनकर ही मुँह में पानी आ जाता है.

यहाँ बात की जा रही है मौसम्बी के बारे में जितना अच्छा यह स्वाद में होता है उससे कहीं ज्यादा सेहत के लिए लाभकारी भी रहता है, यह मौसम्बी का फल. मोसंबी दक्षिणपूर्व एशिया में अत्यधिक पायी जाती है अलग अलग देशों में अलग अलग नाम है इसके, परन्तु इसका स्वाद सबकी जुबान पर एक जैसा राज करता है.ईरान में इसे “लिमु शिरीन” कहते हैं, तो नेपाल में “मौसम”. भारत में तो विभिन्न राज्य में भी इसे अलग नाम से पुकारा जाता है. उत्तर भारत में इसे “मौसम्बी” तो तेलुगु में इससे “बथया कायलु” और तमिल में “सथुकडी” के नाम से जाना जाता है

मोसम्बी के बारें में पूरी जानकारी

Complete information about Mosambi

इसका साइंटिफिक नाम “साइट्रस लिमेटा” है. यह निम्बू की प्रजाति का फल है. इसमें साइट्रस अम्ल अधिक पाया जाता है. सामन्यतः मौसम्बी का पेड़ 8 मीटर (लगभग 26 फ़ीट) ऊँचा होता है. यह कंटीला होता है. इसके फूल सफ़ेद रंग के होते हैं, जो कुछ समय बाद पक कर हरे, पीले गोल आकार की मौसम्बी का रूप लेते हैं. 5 से 7 साल तक की आयु में ही यह पेड़ फल देने लगता है, जो 10 से 20 वर्ष तक बहुत फल देता है

ऐसे तो यह स्वाद में मीठा होता है, परन्तु साइट्रस प्रजाति का होने के कारण यह फल निम्बू की तरह थोड़ा खट्टा होता है. इसका जूस अत्यन्त ही स्वादिष्ट तथा पौष्टिक होता है. ताजा मौसम्बी का रस तो मीठा लगता है, परन्तु यदि कुछ समय तक यह बाहरी हवा में रह जाए तो इसका स्वाद कड़वा होने लगता है

मौसंबी खाने के सेहत लाभ

health benefits of eating mosambi

मौसमी या मौसंबी एक खट्टा यानी सिट्रस फल की श्रेणी में आता है। इस फल में सबसे ज्यादा विटामिन सी होता है, जो सेहत के साथ ही स्वस्थ त्वचा के लिए भी बेहद जरूरी होता है। साथ ही इसमें कई ऐसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो आपको कई बीमारियों से बचा कर रख सकते हैं

मौसंबी खाने के फेस टैनिंग और डार्क सर्कल करे दूर

Remove face tanning and dark circles by eating mosambi

गर्मी का मौसम आते ही सबसे ज्यादा चेहरा झुलसता है। त्वचा काली पड़ जाती है, टैन हो जाती है। कुछ लड़कियों आंखों के नीचे काले घेरे यानी डार्क सर्कल से भी बहुत परेशान रहती हैं। मौसमी के पेस्‍ट में हल्‍दी और एक छोटा चम्मच शहद मिलाएं। अब इस पेस्‍ट को अपने चेहरे पर 5 मिनट तक लगाकर रखें। इसके बाद इसे पानी से धो लें। हफ्ते में दो बार इस प्रक्रिया को ट्राई करें और टैनिंग और डार्क सर्कल कम हो जाएगा।

चेहरे के लिए है बेहद फायदेमंद मौसम  

Very beneficial weather for the face

मौसमी में विटामिन सी सबसे अधिक होता है और विटामिन सी में सिट्रिक जूस होता है, जो त्वचा को साफ करने का काम करता है। मौसंबी को लेकर चेहरे पर 5 मिनट मालिश करने के बाद पानी से चेहरा धो लें। चेहरा चमक उठेगा।

Join -चौमूं की छोटी-बड़ी खबरें देखने के लिए चौमूं सिटी न्यूज़ - ब्रेकिंग न्यूज़, टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें -
डिजिटल विज्ञापन - Ad

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker