डिजिटल विज्ञापन - Ad
लाइफस्टाइल

कमरख खाने के फायदे, ऐसे करें सेवन

कमरख खाने के फायदे, ऐसे करें सेवन अगर आप गांव में होते तो इस लेख को पढ़ने से पहले ही आप कमरख को खा चुके होते।

कमरख खाने के फायदे, ऐसे करें सेवन

Benefits of eating kamarkha, consume it like this

अगर आप गांव में होते तो इस लेख को पढ़ने से पहले ही आप कमरख को खा चुके होते। गांवों की आबादी प्रकृति के ज्यादा नजदीक है। इसलिए उन्हें आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का सही उपयोग भी मालूम है। लेकिन शहरों की आबादी पित्जा-बर्गर से आगे बढ़ने की कोशिश कर रही है। शहरों में कमरख फल बाजार में, सड़क पर, ढेली पर दिख जाता है। स्कूल जाते बच्चे हों या कॉलेज जाते विद्यार्थी…उन सभी की पहली पसंद होते हैं कमरख का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। दांत खट्टे होने लगते हैं

स्वास्थ्य को संतुलित रखने के लिए हमेशा फलों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। ऐसा माना जाता है कि फलों के जरिए विभिन्न पोषक तत्वों की पूर्ति आसानी से हो जाती है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम एक ऐसे ही फल के बारे में बता रहे हैं, जिसको कमरख और स्टार फ्रूट के नाम से जाना जाता है। इस लेख के जरिए आपको कमरख का उपयोग, कमरख फल खाने के फायदे और कमरख के नुकसान के बारे में पता चलेगा। अगर आप भी हमेशा स्वस्थ रहना चाहते हैं

कमरख की पहचान

identification of kamarkha

  • कमरख की खटास का पानी मुंह में आप तभी आप ला सकते हैं
  • जब आपने यह फल पहले खाया हो।
  • अगर नहीं खाया है तो आज हम इस लेख में आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे।
  • जिसे पढ़कर इसका सेवन आप जरूर करने लग जाएंगे। डॉ मीना ने बताया कि कमरख का पेड़ गर्म प्रांतों में पाया जाता है।
  • इसकी लंबाई 15-30 फीट होती है। इसके पत्ते कासमर्द के पत्तों के समान होते हैं।
  • कमरख औक्जैलिडेसी कुल का पौधा है। कमरख के फूल आकार में छोटे और सफेद रंग के होते हैं।
  • इसके फल 3-4 इंच लंबे होते हैं। यह विशेष आकार का फल होता है।
  • इसके पांच कोने होते है। सुगंधित फल है। शुरुआत में हरा और पकने पर पीला हो जाता है। कमरख खट्टा और मीठा दोनों प्रकार का होता है।
  • मीठा कमरख बंगाल की तरफ पाया जाता है। कमरख का साग, चटनी, अचार, शरबत बनाया जाता है। इसे सीधे कच्चा भी खाया जा सकता है।

कमरख क्या है

what is kamarkha

कमरख फल को स्टार फ्रूट के नाम से भी जानते हैं। जब इसे छोटे-छोटे हिस्सों में काटा जाता है, तो यह तारों के आकार की तरह दिखता है। इसी कारण इसे स्टार फल के नाम से भी जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम एवररहो कारंबोला है। कमरख का फल पीले रंग का होता है। इसका फल पकने के बाद हल्के नारंगी रंग का हो जाता है और स्वाद में हल्का खट्टा होता है। यह बाजार में आपको आसानी से मिल जाएगा

बालों में मददगार कमरख

Helpful in hair

कमरख बालों की सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। कमरख में जिंक और विटामिन बी पाया जाता है। ये दोनों ही गुण बालों के विकास के लिए अच्छे होते है। तो वहीं कमरख खाने से बालों की रूसी की समस्या छूमंतर हो जाती है। विटामिन बी ग्रुप के खाद्य पदार्थ बालों के लिए अच्छे होते हैं। बदलते लाइफस्टाइल की वजह से बालों में कई समस्याएं हो रही हैं। इन सभी समस्याओं से निजात दिलाता है कमरख।

कब्ज को रखे दूर

keep constipation away

गर्मी के मौसम में कब्ज की शिकायत बढ़ जाती है। खाना ठीक से पचता नहीं है। तो वहीं इस मौसम में पेट संबंधी कई विकार हो जाते हैं। कमरख इन सभी विकारों को दूर करता है। कमरख में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। यह फाइबर खाने के पचाने में मदद करता है। साथ ही पेट की अन्य समस्याओं को खत्म करता है।

बवासीर में मददगार

helpful in piles

गर्मियों में लोगों को बवासीर की दिक्कत होने लगती है। तो वहीं, उल्टी, दस्त जैसी दिक्कतें भी होने लगती हैं। यह सभी समस्याएं कमरख के प्रयोग से कम होती हैं। कमरख किसी भी रूप में खाया जा सकता है। आप चाहें तो कमरख के फल को काटकर उसमें थोड़ा नमक, मिर्च मिलाकर खा सकते हैं। या फिर सुबह शाम नाश्ते के साथ या लंच में सलाद की तरह खा सकते हैं। पर ध्यान रहे कि दिन में 100 से 200 ग्राम से ज्यादा न खाएं।

कैंसर से बचाव के लिए

to prevent cancer

कैंसर की समस्या से बचने के लिए कमरख फल खाने के फायदे देखे जा सकते हैं। ऐसा इसलिए मुमकिन हो सकता है, क्योंकि स्टार फल (कमरख फल) में बीटा-कैरोटीन की मात्रा पाई जाती है। बीटा-कैरोटीन एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं बीटा-कैरोटीन की मात्रा का सेवन कैंसर होने के जोखिम को कम करने के लिए प्रयोग किया जाता है

पाचन में सहायक

aids in digestion

स्टार फल के फायदे पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में भी आपके काम आ सकते हैं। दरअसल, स्टार फल को फाइबर युक्त फलों की श्रेणी में प्रमुख रूप से गिना जाता है फाइबर युक्त आहार का सेवन करने से यह आपके पाचन को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकता है। साथ ही फाइबर का सेवन कब्ज की समस्या को दूर करने में भी प्रभावी असर दिखा सकता है

Join -चौमूं की छोटी-बड़ी खबरें देखने के लिए चौमूं सिटी न्यूज़ - ब्रेकिंग न्यूज़, टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें -
डिजिटल विज्ञापन - Ad

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker